Saturday, July 30, 2005

कुछ तस्वीरें






कुछ तस्वीरें, जहाँ सड़क का कोना खत्म होता है -
कोई मोड़,
फिर नया शुरू होता है.





30 जुलाई 05 © मोहन राणा

रेत का पुल/ RET KA PUL

Mohan Rana's poetry is always tuned to sounds from near and afar. At the same time it captures in its images the essence of close and ...