Posts

Showing posts from 2009

अंतिम दिन

गोपन कथा

The Survival of the Fattest

कोपेनहेगन में जलवायु परिवर्तन सम्मेलन

सवाल नहीं है आज

सबसे ऊँची छत

जहाँ बादल सुनाते हैं संदेश

याद करते तुम्हें

काबुलीवाला कहता है

क्या सूरज हमारी स्मृतियों का लाइब्रेरियन है?

मरीचिका

पहली कविता

गते गते

कल परसों कि आज

विदूषक

चाँद के बाहुपाश में सूरज

विक्रम सेठ I wish

अनुवाद

आशा नाम छतरी का

बारिश

तिब्बत

The Clone

हिममानव

सफेद सूरज

नववर्ष 2009 की हार्दिक शुभकामनाएँ